City Voice – Latest News From Around The India
Image default
घरेलू नुस्खे

Pregnancy में आम हैं बालों की ऐसी समस्याएं, Hair Care के लिए आजमाएं ये घरेलू नुस्खे

एक महिला के जीवन में गर्भावस्था का दौर कई तरह के मिले-जुले एहसासों से भरा हुआ होता है. शारीरिक बदलावों के साथ ही होने वाली मां कई तरह के भावनात्मक बदलावों से भी गुजर रही होती है.

एक महिला के जीवन में गर्भावस्था का दौर कई तरह के मिले-जुले एहसासों से भरा हुआ होता है. शारीरिक बदलावों के साथ ही होने वाली मां कई तरह के भावनात्मक बदलावों से भी गुजर रही होती है. प्रेगनेंसी में त्वचा और बालों संबंधी कई समस्याएं होना बिल्कुल आम बात है.

प्रेगनेंसी में होती हैं बालों संबंधी समस्याएं
प्रेगनेंसी के दौरान हॉर्मोंस के उतार-चढ़ाव और बदलने की वजह से बालों की प्राकृतिक साइकिल बिगड़ जाती है. इसकी वजह से बाल कई बार रूखे और मोटे नजर आने लगते हैं. गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं के बाल घुंघराले होने लगते हैं तो कुछ का पूरा टेक्सचर ही बदल जाता है. दरअसल, गर्भावस्था के हॉर्मोन हेयर फॉलिकल्स का आकार बदल देते हैं. जिंदगी के इस पड़ाव में अपनी त्वचा या बालों पर कुछ भी लगाने से पहले इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह केमिकल आपके रक्त में प्रवेश कर बच्चे को प्रभावित कर सकता है. डर्मटो सर्जन और कॉस्मेटिक डर्मटोलॉजिस्ट डॉ.रिंकी कपूर से जानिए, प्रेगनेंसी के दौरान अपनाया जाने वाला हेयर केयर रूटीन.

प्रेगनेंसी हेयर केयर
हर गर्भवती महिला को अपने बालों का खास ख्याल रखना चाहिए. उन पर कोई केमिकल लगाने या केमिकल ट्रीटमेंट लेने से बचें. बालों के प्राकृतिक टेक्सचर को बरकरार रखने और उनका खास ख्याल रखने के लिए ये हेयर केयर टिप्स अपनाए जा सकते हैं.

1. प्रेगनेंसी के दौरान हेयर स्टाइलिंग को रोक दें. इसका मतलब है कि इस दौरान बालों पर डाई लगाने, हाईलाइट करने और पर्मिंग करने से बचना चाहिए. बालों को किसी केमिकल प्रक्रिया से स्ट्रेट भी न करवाएं. आपके बाल जैसे हैं, उन्हैं वैसा ही रहने दें.
2. अपने बालों या सिर की त्वचा पर कोई भी केमिकल न लगाएं. डिलीवरी के बाद भी कुछ समय तक इस तरह के हेयर ट्रीटमेंट करवाने से बचना चाहिए.

3. अगर कोई हेयर ट्रीटमेंट लेना बहुत जरूरी है तो बालों के टिप्स पर हाईलाइटिंग करवा लें या प्राकृतिक तौर पर डाई भी कर सकती हैं.
4. शैंपू और कंडीशनिंग के नियमित हेयर केयर रूटीन को जारी रखा जा सकता है. हालांकि, अपने डॉक्टर से शैंपू के इस्तेमाल संबंधी मसले पर सलाह भी ले सकती हैं.
5. गीले बालों पर कंघी न करें.
6. कोई भी टाइट हेयर स्टाइल न बनाएं. बालों को थोड़ा ढीला बांधें.
7. अपने बालों की नियमित तौर पर सफाई करें, खासतौर पर अगर उनका टेक्सचर तैलीय हो.

हेयर केयर के लिए अपनाएं घरेलू नुस्खे
गर्भावस्था में केमिकल युक्त उत्पादों का इस्तेमाल करने के बजाय ज्यादा से ज्यादा घरेलू नुस्खे ही आजमाएं. आप इन घरेलू नुस्खों से अपने बालों का खास ख्याल रख सकती हैं-

1. 4-5 टेबलस्पून एलो वेरा जेल में 2 टेबलस्पून अरंडी का तेल यानी कैस्टर ऑयल और 1 टेबलस्पून ग्लिसरीन मिलाएं. इस मिश्रण को अपने सिर से लेकर बालों के टिप्स तक लगाएं और 1 घंटे बाद शैंपू कर लें. इससे आपके बाल मजबूत बनेंगे और उनकी चमक भी बढ़ेगी.
2. मेथी के कुछ दानों को रात भर के लिए पानी में भिगोकर रखें. उनका पेस्ट बनाकर बालों पर लगा लें. सामान्य तरीके से बाल धो लें. इससे बालों की ग्रोथ बढ़ेगी और सिर भी ठंडा रहेगा.
3. कुछ करी पत्तों को नारियल के तेल में उबाल कर ठंडा कर लें. बालों को शैंपू करने से 1-3 घंटे पहले इस मिश्रण को बालों में लगा लें.
4. तिल के तेल में अपने पसंदीदा एसेंशियल ऑयल की 1-2 बूंदें डालें. बालों पर शैंपू करने से पहले इस मिश्रण से सिर की मसाज करें. अलग-अलग एसेंशियल ऑयल्स के अपने फायदे हैं. लैवेंडर से बालों को लंबा किया जा सकता है, रोजमैरी से बाल घने होते हैं और देवदार की लकड़ी के तेल से बालों का झड़ना कम किया जा सकता है.

प्रेगनेंसी के दौरान मन को शांत रखें, किसी तरह का तनाव न लें और जिंदगी के हर छोटे-बड़े बदलाव को एंजॉय करें. एक नियमित और स्वस्थ दिनचर्या अपनाने से आप डिलीवरी के बाद भी सुकून महसूस करेंगी और आपको खुद पर ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी.

Related posts

Leave a Comment

X
Glad to have you at Our Website
Welcome to WPBot
wpChatIcon