Featured रोचक जानकारी

पहले का वक्त व आज का वक्त और वास्तु का ज्ञान

पहले के वक्त में और आज के वक्त में अंतर ।।।वास्तु दोष मनुष्य का
पहले के लोग शौच के लिए घर के बाहर जाते थे ।। और खाना घर में खाते थे ।।
आज के वक्त में खाना बाहर खाते है और शौच घर में ही कर लेते है ।।
पहले शादी विवाह में घर की महिला खाना बनाती थी और नाचने के लिए औरते आती थी ।

आजकल घर की महिला नाचती है । और खाना बनाने के लिए महिलाये बुलाई जाती है ।।
पहले मांगलिक उत्सव कार्य घरो में किये जाते थे जिससे देवताओं का आशिर्बाद मिलता था ।।
आजकल होटलों में होने से वो आशीर्वाद होटल मालिको को मिलने लगा है ।

पहले घर के बुजुर्ग गौ सेवा करके अपने कार्य शुरू करते थे ।
आज कल गाय को रोटी दान करने में युवा वर्ग पूछता है की कब तक खिलाना है और लाभ कब मिलेगा ।
पहले कन्या की बरात घर में आने पर घर के सभी लोग उनका स्वागत सत्कार करते थे ।। यहाँ तक की कन्या के गाव का पानी तक नही पीते थे ।।

आजकल कन्या बारात लेकर जाती है और पूरे घर के लोग स्वागत कराते है ।।
पहले घर के द्वार पर पेड़ लगाए जाते थे जिससे छाया और फल फूल मिले ।।
आजकल लकड़ी काटकर फर्नीचर बनाये जाते है ।। पेड़ कोई लगाता नही ।
पहले घर का एक सदस्य कमाई करके लाता था और सब प्रेम से खाना खाते थे ।
आजकल 5 लोग कमाते है और पांचो प्रेम से खाना नही खा पाते ।।
पहले महीने का रासन घर में एक बार आता था और वरक्कत बनी रहती थी ।।
आजकल रोज सामान लाते है फिर भी घर में कुछ मिलता नही ।।

कितना बदल गया पहले से अब का जीने का अंदाज ।। बस वही से शुरू हुआ मनुष्य का वास्तु ख़राब ।।
इसी के दुष्परिणाम आज हमको प्रक्रति में भी देखने को मिलते है ।।आज हर 100 आदमी के बीच 90 लोग परेशान है ।। जबकि पहले एक आदमी परेशानी में होता तो 90 लोग उसके सहयोग को तैयार रहते थे ।।

वो लोग प्रक्रति को मानकर कार्य करते थे ।।आज का मनुष्य प्रक्रति से दूर होता जा रहा है । जिसके कारण प्रक्रति भी अपने से दूर हो रही है ।। आज जो हम भूकंप बाड त्रासदी देख रहे है ये उसी का दुष्परिणाम है ।।हमने अगर परिवर्तन नही सोचा तो ये आपदाए बढती ही जाएँगी ।।

About the author

Laxman Hada

I am a freelance writer and blogger that specializes in Health and tech content. I studied at the University of Delhi and am now on the Delhi,India. I frequently blog about writing tips to help students do better on their work.

Add Comment

Click here to post a comment