रोचक जानकारी

सफलता के लिए पाँच मूल मन्त्र

यहाँ सफलता के कुछ ऐसे ही सूत्र दिए जा रहे हैं, जो आपके लिए मील का पत्थर साबित होंगे

1. बड़े स्वप्न देखें

 

शेेखचिल्ली की तरह सोते-सोते सपने देखना बहुत आसान है। किंतु हम यहाँ उन सपनों की बात नहीं कर रहे हैं। यहाँ उन सपनों की बात हो रही है, जिसमें प्रत्येक युवा अपने केरियर को लेकर सपने देखता है। हमारे राष्ट्रपति कलाम साहब कहते हैं कि प्रत्येक व्यक्ति को बड़े सपने देखने चाहिए। जो लोग बड़े सपने नहीं देखते, वो बड़े बन भी नहीं सकते। मध्यमवर्गीय परिवार में जन्में कलाम को देश के प्रथम व्यक्ति होने का गौरव प्राप्त है, उसके पीछे उनके बड़े सपने हैं, जिनके कारण वो इस मुकाम को हासिल कर पाए।

2. अवसर को पहचानें

 

अवसर किसी के द्वार पर बार-बार दस्तक नहीं देता। प्रसिद्ध विचारक स्वेट मॉर्डन ने लिखा है कि अवसर लोगों का द्वार एक बार नहीं, बल्कि बार-बार खटखटाता है, परंतु बहुत कम लोग होते हैं, जो उसकी आवाज सुनकर द्वार खोलते हैं। इसलिए अवसर को देखने की पैनी नजर होनी चाहिए। जिस तरह एक शिकारी अपने शिकार पर बाज नजर रखता है और शिकार मिलते ही ट्रीगर दबाता है, उसी तरह अवसर को झपट लेना चाहिए।

3. समर्पणभाव

समर्पण को हार की निशानी माना जाता है, परंतु वास्तविकता यह है कि समर्पणभाव से जीत की नींव मजबूत होती है। कोई भी काम करना और समपण भाव से काम करना, यह दोनों ही दो अलग-अलग स्थिति है। समर्पण भाव से काम करने का अर्थ है- आप अपने प्रति पूरी तरह से ईमानदार है, अर्थात् आप अपनी संपूर्ण योग्यता, क्षमता, एकाग्रता के साथ सफलता के लिए प्रयास कर रहे है। इसके लिए आप हाथ में लिए गए काम को पूरी गहराई से जानेंगे, उसके लाभ-हानि को समझने का प्रयास करेंगे और फिर निश्चित रूप से सफल होंगे।

4. खतरे उठाने के प्रयास

 

अर्थशास्त्र का एक सामान्य नियम है – लाभ पाने के लिए जोखम उठाएँ। इसका सीधा अर्थ यह है कि आप जितने अधिक खतरे उठाएँगे, आपको उतना अधिक लाभ होगा। किंतु यह खतरे अपनी शक्ति, सुविधा और योग्यता के अनुसार होने चाहिए।

5. विजेता होने की जिद

– वैसे तो जिद्दी व्यक्तियों को योग्य नहीं माना जाता, पर यदि ये जिद जीतने के लिए की जाए, तो अवश्य सफलता की ओर ले जाती है। जिद एक ऐसी अमूल्य वस्तु है, जिसके बल पर व्यक्ति जमीन आसमान एक कर के सफलता की बुलंदियों को छू सकता है। जब जीवन में निराशा छा गई हो, तब जिद और वह भी आशा को पाने की जिद सफलता दिलाती ही है।

About the author

Ashok Kumar

I am a freelance writer and blogger that specializes in Tech and gadgets. I studied at the University of Ajmer and am now on theDelhi. I frequently blog about writing tips to help students do better on their work.

Add Comment

Click here to post a comment